पैसे कमाने के पांच बड़े न्यू बिजनेस आईडियाज,इन हिंदी | Money earning new ideas 2022 in hindi

पैसे कमाने के लिए लोग कई प्रकार के बिजनेस कर रहे हैं वह चाहे उच्च हो मध्यम , किसी भी बिजनेस को शुरू करने के लिए उस बिजनेस के बारे में अधिक जानकारी या अनुभव होना चाहिए , जिससे उस बिजनेस को आसानी से शुरू किया जा सके एवं अच्छे पैसे भी कमाया जा सके और इस बिजनेस को करने के लिए हमें इस पोस्ट के माध्यम से विस्तृत जानकारी मिलने वाली है और इस आर्टिकल में ‘बिजनेस आइडियाज’ के नए 5 बड़े बिजनेस के बारे में चर्चा करेंगे एवं इस बिजनेस की गहराई से जानकारी प्राप्त करेंगे!

अब हम पांच नए बिजनेस के बारे में बात करेंगे और यह बिजनेस इस प्रकार है सबसे पहला बिज़नेस ट्रांसपोर्ट, फीड फार्मिंग, एग्रीकल्चर , प्रिंटिंग एवं चाय पत्ती जो 5 न्यू बड़े बिजनेस के अंतर्गत हैं इनके बारे में से विस्तृत से चर्चा करेंगे और इन बिजनेस के बारे में यह बात करेंगे की यह बिजनेस किस प्रकार प्रारंभ किया जा सकता है एवं इसका स्टार्टअप किस प्रकार तैयार किया जाता है एवं कैसे पैसे कमाए जाते हैं तो आइए हम सबसे पहले बिजनेस के बारे में सविस्तार रूप से समझते हैं:

1.Transporting

Table of Contents

Transport ‘ट्रांसपोर्ट’ देश के व्यापारिक यातायात गतिविधियां वाहन एवं परिवहन संचलन किसी वस्तु के स्थानांतरित पर निर्भर है व्यापार संचलन आयात एवं निर्यात पर है जो कि निरंतर व्यापार में लगातार होता है ,और सभी बिजनेस एवं व्यापार ट्रांसपोर्टर एवं ट्रांसपोर्टिंग पर निर्भर है और इस देश की जनसंख्या की आवश्यकता को पूर्ण करने में एवं व्यापार में transport सबसे महत्वपूर्ण है कोरोना जैसी महामारी में ट्रांसपोर्ट की सबसे अहम भूमिका थी जो देश की जनता की आवश्यकता को पूरा कर रही थी जिससे ट्रांसपोर्टिंग बिजनेस में अधिक विश्वास हो चुका है और इस बिजनेस का अर्थ किसी विषय वस्तु को लाना या पहुंचाना होता है इसमें किसी व्यक्ति के वस्तु को एक स्थान से दूसरे स्थान पहुंचाने का कार्य होता है जो कि एक व्यवसायिक सेवा के अंतर्गत है और यह व्यवसायिक सेवा एक ट्रांसपोर्ट एवं बिजनेस के रूप में है और इस बिजनेस की आवश्यकता प्रत्येक व्यापारी एवं व्यवसाय को है और यह बिजनेस परिवहन एवं वाहन द्वारा किया जाता है !

ट्रांसपोर्ट बिजनेस कैसे शुरू करें

इस जानकारी में ट्रांसपोर्ट बिजनेस करने के लिए आपके पास वाहन होना चाहिए यदि आपके पास नहीं है तब भी यह बिजनेस आप कर सकते हैं इस बिजनेस के लिए आपको एक ऑफिस या केबिन बनाकर एक स्थान से यह बिजनेस संचालित कर सकते हैं ट्रांसपोर्ट बिजनेस ट्रांसपोर्टर के द्वारा किया जाता है एवं इस ट्रांसपोर्टर को प्रत्येक वाहन चालकों से संपर्क में कार्य करना होता है आपको अपने ट्रांसपोर्ट बिजनेस के लिए फर्म का पंजीयन जीएसटी, गुमास्ता जैसे प्रमाण की आवश्यकता होती है एवं उद्योग आधार नंबर लेकर आप बैंकिंग सुविधा का भी लाभ आसानी से प्राप्त कर सकते हैं और फर्म का पंजीयन कराना आवश्यक होता है आप यह ट्रांसपोर्ट सर्विस बिजनेस कई प्रकार से कर सकते हैं जैसे कि बस सर्विस, ट्रक सर्विस, कार सर्विस, ओला – उबेर, पैकर्स एंड मूवर्स, कार ड्राइविंग स्कूल, ऑटो रेंटल बिजनेस जैसे कार्य ट्रांसपोर्ट सर्विस बिजनेस में आसानी से कर सकते हैं ,आप इन बिजनेस को विस्तृत रूप से समझ सकते हैं जो कि इस प्रकार हैं:

बस ट्रांसपोर्ट सर्विस, ट्रक ट्रांसपोर्ट सर्विस, कार ड्राइविंग स्कूल सर्विस, ओला , उबर कैब, पैकर्स एंड मूवर्स, ऑटो रेंटल बिजनेस

बस ट्रांसपोर्ट सर्विस “

बस स्टैंड के नजदीक आप अपने किसी भी नाम से बस सर्विस ट्रांसपोर्ट के नाम से छोटा ऑफिस या केबिन बनाकर शुरू कर सकते हैं प्रतिदिन बस की आवक जावक में यह बिजनेस आधारित होता है बिजनेस , व्यापार के व्यापारियों द्वारा बस सर्विस का प्रयोग करते हैं एवं व्यापारियों के व्यापार संबंधित सभी वस्तुओं का आयात एवं निर्यात प्रतिदिन किया जाता है एवं उन व्यापारियों को बस सर्विस की आवश्यकता होती है और अपने व्यापारिक गतिविधियों को उपयोग करते हैं और यही प्रक्रिया व्यापार में लगातार होती है और किसी वस्तु का लाना ले जाना व्यापार में प्रतिक्रिया निरंतर होती है और इस व्यापार को यह गतिविधियां अत्यंत महत्वपूर्ण एवं प्रभावित करते है और बस ट्रांसपोर्ट सर्विस बिजनेस को आवश्यकतानुसार एवं बिजनेस के रूप में किया जाता है!

एवं यह दूसरे रूप में इस प्रकार है यात्रियों एवं शादियों पर’ बस सर्विस ट्रांसपोर्ट सर्विस ‘एवं ट्रांसपोर्ट द्वारा प्राप्त की जाती है सफर एवं टूर का लाभ ट्रांसपोर्ट सर्विस द्वारा लिया जाता है एवं यह सुविधा एडवांस बुकिंग पर प्राप्त की जाती है एवं ट्रांसपोर्ट बस सर्विस बिजनेस ट्रैवल्स एवं टूर के लिए अधिक उपयोग एवं मांग पूर्ण हैं जिससे अधिक इन साधनों का उपयोग किया जाता है जिसस से यह बिजनेस अधिक उपयोगी एवं लाभदायक है इस बिजनेस से अधिक पैसा कमाया जा सकता है !

ट्रक ट्रांसपोर्ट सर्विस

ट्रक ट्रांसपोर्ट सर्विस एक ऐसी सर्विस है जो यातायात के साधनों द्वारा संभव है मानवीय जीवन शैली में इसकी अधिक उपयोगिता है जो जरूरतों को पूरा करने में मदद करता है यातायात के साधनों द्वारा किसी वस्तु के स्थानांतरण एवं आवश्यक सामग्री को ट्रांसपोर्ट द्वारा स्थानांतरित किया जाता है ट्रांसपोर्ट सर्विस इकोनामी एवं आर्थिक संपत्ति को अधिक प्रभावित करती है और इसकी मदद से व्यापार वस्तुओं का वितरण एवं विक्रय ट्रांसपोर्ट द्वारा संभव है जिससे इसकी व्यापार में अधिक उपयोगिता है एवं इस बिजनेस की शुरुआत आप एक रजिस्ट्रेशन के आधार पर शुरू कर सकते हैं इस ट्रांसपोर्ट की अधिक विशेषता व्यापार के बड़े एवं उपयोगी एवं अनुपयोगी वस्तुओं का स्थानांतरण किया जाता है जैसे दवाइयां,सब्जियां,अनाज गल्ला ,आयरन ,फाइबर जैसे आवश्यक वस्तुओं की आयात एवं निर्यात ट्रक ट्रांसपोर्ट सर्विस के आधार पर संभव है इस बिजनेस की शुरुआत आप स्वयं का ट्रक या किराए पर लेकर शुरू कर सकते हैं और यदि आप खुद ड्राइव करते हैं तो आप अधिक पैसे भी ड्राइवर का बचा सकते हैं एवं बैंकिंग कैपिटल के आधार पर इस बिजनेस की शुरुआत आप अच्छे स्तर पर कर सकते हैं एवं बड़े स्तर पर, और इस बिजनेस को अधिक ऊंचाइयों तक ले जाने में आप ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ओं का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे लॉरी बुकिंग ऐप में रजिस्टर्ड होकर इस तकनीक का लाभ उठा सकते हैं और अच्छे पैसे कमा सकते हैं !

कार ड्राइविंग स्कूल सर्विस

सुविधा का साधन वाहन ,कार जैसे यंत्रों का उपयोग अधिक होने लगा है और जिन्हें आवश्यकतानसार बनाया गया है और जिसका वर्तमान में अधिक उपयोग है और यह एक स्थान से दूसरे स्थान जाने का एक बहुत अच्छा साधन और माध्यम है आज के समय में कार अधिक उपयोगी बन चुकी है और इसका इस्तेमाल भी अधिक हो रहा है और जिससे व्यक्ति आवश्यकतानुसार उपयोग करता है और इसे उपयोग करने के लिए उस व्यक्ति को सीखना आवश्यक होता है और सीखने के संबंध में कार ड्राइविंग स्कूल बिजनेस को शुरू किया जा रहा है इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको अपने स्टेट से ड्राइविंग स्कूल का ऑनलाइन या ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन करना होता है और इसमें कार ड्राइविंग स्कूल ओपन करने का और कार learning सिखाने का दोनों का लाइसेंस आवश्यक होता है और जिसे आप ऑनलाइन या ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं और कार ड्राइविंग स्कूल चलाने के लिए आपको लाइसेंस जो सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है जैसे आप लीगल तरीके से यह बिजनेस कर सकते हैं और और आपके पास स्वयं का कार ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए और आप के पास अच्छा एक्सपीरियंस भी होना चाहिए जिससे आप किसी को भी अच्छे से सिखा सकते हैं आप इस बिजनेस को शुरू करने के लिए new नई या पुरानी कार खरीद कर शुरू कर सकते हैं !

आज बिजनेस शुरू करने के लिए कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जिसे आप अपने ड्राइविंग स्कूल का लीगल तौर पर बिजनेस कर सकते हैं और इस बिजनेस को आप ऑनलाइन या ऑफलाइन डिजिटल प्लेटफॉर्म ऊपर कर सकते हैं जैसे स्वयं की वेबसाइट पर इस बिजनेस को लिस्टेड कर आप अधिक एडवर्टाइज कर इस बिजनेस की जानकारी अधिक लोगों तक पहुंचा सकते हैं और अपने बिजनेस को अधिक बढ़ा सकते हैं

कार ड्राइविंग स्कूल के बिजनेस में वाहन नियम व शर्तें ”The motor vehicle act 1988” के तहत यह प्रारूप तैयार होता है जिसके निर्देशानुसार यह व्यापार किया जाता है !

इनके कुछ नियमों को प्रस्तुत एवं साझा करेंगे:

जिस व्यक्ति को आप कार चलाना सिखा रहे हो वह व्यक्ति वयस्क होना चाहिए ड्राइविंग सिखाने हेतु आपके पास स्वयं का वाहन होना चाहिए जिसकी मदद से आप लर्निंग सर्विस प्रोवाइड कर सकते हैं !आपके पास ड्राइविंग स्कूल का लाइसेंस यह सर्टिफिकेट होना चाहिए जो कि यह लीगल तौर पर certified होता है !आप जिस वाहन,कार से ड्राइविंग सिखा रहे हैं उस वाहन में दो ”कंट्रोलर” होना चाहिए जिससे आप अपने वाहन को कंट्रोल कर सके !आप अपने स्टूडेंट को एक खुले मैदान पर ड्राइंग एवं लर्न करा सकते हैं जिससे दुर्घटना से बचें ! आपके ड्राइविंग कार मे फर्स्ट एड किट होनी चाहिए जिसका दुर्घटना होने पर उपयोग किया जा सके !

ओला

ओला यह एक भारतीय ऑनलाइन परिवहन नेटवर्क कंपनी है जिसे एएनआई टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड द्वारा प्रबंधित किया गया है ओला कैब एक ऐसी कंपनी है जिसमें आप जुड़कर कर महीने का अच्छा खासा पैसा अर्न कर सकते हैं एवं स्वयं की फाइनेंसियल कंडीशन भी बेहतर बना सकते हैं इस कंपनी से जुड़कर आप अपनी कार लगाकर ओला कैब सर्विस में सर्विस प्रोवाइड कर एवं पैसे भी कमा सकते हैं इस कंपनी से जुड़ने के लिए आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने होते हैं और सारे लीगल डॉक्यूमेंट सबमिट कराने होते हैं और आपके सभी दस्तावेज को सबमिट कर आपको कंपनी द्वारा प्रमाणित किया जाता है यह आप नेटवर्क परिवहन कंपनी से संबंध रखते हैं एवं इस कंपनी से जुड़ने के लिए आपके परिवहन कार के सभी दस्तावेज पूर्ण रूप से complete होने चाहिए एवं ड्राइवर की आरसी एवं कमर्शियल लाइसेंस होना चाहिए कंपनी के नाम से आपका एक सर्टिफिकेट बन जाएगा जिससे आपका बिजनेस लीगल एवं प्रमाणित हो जाएगा.!

उबर कैब

उबर कैब कि हम बात करें तो यह एक ट्रांसपोर्टेशन नेटवर्क कंपनी है जिस का हेड क्वार्टर सैन फ्रांसिस्को कैलिफोर्निया में स्थित है इस कंपनी का बिजनेस लगभग 785 महानगरीय क्षेत्रों में विस्तृत है जो उबर कैब की सुविधा, सर्विस उपलब्ध कराती है एवं उपयोगकर्ता इस कंपनी की सर्विस प्राप्त करने हेतु वेबसाइट एवं एप्लीकेशन का उपयोग करती है

भारत में इसकी सेवाएं शहरों एवं महानगरों में स्थापित है जैसे मुंबई, चंडीगढ़, बेंगलुरु, कोलकाता, हैदराबाद, अहमदाबाद, चेन्नई इंदौर ,जयपुर ,कोच्चि ,भुवनेश्वर ,नागपुर ,पुणे ,सूरत ,मैसूर, पुणे विशाखापट्टनम इत्यादि स्थानों में यह सेवाएं उपलब्ध है !

पैकर्स एंड मूवर्स

पैकर्स एंड मूवर्स सर्विस, यह एक ट्रांसपोर्टेशन बिजनेस है इस बिजनेस का समान अर्थ यह है कि, किसी व्यक्ति विशेष की आवश्यक वस्तुओं को, व्यक्ति के स्थानांतरण पर स्थानांतरित की जाती है , कहने का आशय यह है कि स्थानीय स्तर एवं अंतराज्य स्तर दोनों स्तरों पर भक्तों को इस तरह उपभोक्ताओं को इस तरह की सेवाओं की आवश्यकता पड़ती है या यूं कहें कि कई व्यक्तियों को आवश्यक एवं अनावश्यक कारणों से एक शहर से दूसरे शहर स्थान बदल करना होता है, जिससे वह अपनी आवश्यक सारी वस्तुओं को स्वयं के साथ ले जाना पड़ता हैं ,जिससे उन्हें इस सर्विस की आवश्यकता पड़ती है !

और इस सर्विस की मदद से वह अपनी आवश्यक वस्तुओं को सुरक्षित एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने में मदद मिलती है और कहां जाएं की प्रत्येक व्यक्तियों को अपने आवश्यक वस्तुओं को लाने ले जाने में Packers & movers sarvice की आवश्यकता होती है और प्रत्येक शहरों में इस सर्विस की आवश्यकता दिन प्रतिदिन होती है !

ऑटो रेंटल

ऑटो रेंटल

ऑटो रेंटल बिजनेस में आप स्वयं के ऑटो को रेंट या किराए पर देकर बिजनेस कर सकते हैं इस ऑटो रेंटल बिजनेस आइडिया जबरदस्त आईडिया है,जो ट्रांसपोर्ट बिजनेस से संबंधित अच्छा बिजनेस है इस बिजनेस को करने के लिए आप बजट या पूज्य अनुसार ऑटो खरीद सकते हैं, आप प्रारंभिक क्रिया में 5, या 10 ऑटो रेंट पर देकर शुरू कर सकते हैं इस ऑटो रेंटल बिजनेस में दिन प्रतिदिन का अच्छा चार्ज प्राप्त होता है इसमें आपको ऑटो अनुसार के क्रम अनुसार ऑटो ड्राइवर रखने होते हैं और वाहन चालक या ड्राइवर के लाइसेंस होने चाहिए जिससे आप यह लीगल तौर पर कर सकते हैं और पैसे कमाने का एक अच्छा माध्यम बन सकता है और यह best money earning business ideas भी है !

2.Farming, agriculture (कृषि)

एग्रीकल्चर बिजनेस , कृषि संबंधित एग्रीकल्चर फार्मिंग बिजनेस जोकि इंडिया नहीं, बल्कि देश विदेश में भी अधिक महत्वपूर्ण बिजनेस चुका है,और यह बिजनेस धरती,जमीन से उत्पाद की उत्पत्ति से है, जिसमें विभिन्न प्रकार की कृषि सम्मिलित है जिससे कृषि क्षेत्र के ,क्षेत्र में कृषि का बहुत बड़ा स्थान एवं क्षेत्र है!

हमारे दैनिक जीवन में कृषि का बहुत बड़ा योगदान है, जिससे हमारा जीवन सरल एवं सहज है,और यह हमारे भारतीय युवा किसानों पर निर्भर है, जिन पर हमें बहुत गर्व है,और इनकी अधिक मेहनत से अधिक मात्रा में उत्पाद का उत्पादन करना संभव होता है और यह हमारे देश की जलवायु, मिट्टी, मौसम और किसान पर निर्भर होता है!

Farming,agriculture business के अंतर्गत विभिन्न प्रकार की कृषि एवं फसल उपज की जाती है जिसमें गन्ने की खेती, फूलों की खेती,अनाज की खेती, मशरूम की खेती, मछली,पालन मधुमक्खी पालन, चाय पत्ती की खेती,बकरी पालन

गन्ने की खेती (sugarcane)

गन्ने की खेती ,”sgarcan farming”- यह एक प्रमुख व्यवसायिक फसल है यह एक ऐसी फसल है जिस पर जलवायु परिवर्तन का कोई प्रभाव नहीं होता है, गन्ने की फसल मीठे खानपान में उपयोग की के लिए फसल की जाती है इसका उत्पादन हम गोल चक्कर के रूप में देख सकते हैं जो हमारे दैनिक जीवन में अधिक उपयोगी एवं महत्त्वपूर्ण है

गन्ने की खेती कैसे की जाती है एवं कितना प्रॉफिट होता है हम इस लेख के माध्यम से गन्ने की खेती में आने वाले खर्चे का संपूर्ण बिंदु के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे

सबसे पहले हम कैल्शियम,पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे रसायनों को उपयोग में लेते हैं और इसके अलावा भी हम बुलई दोमट मिट्टी को गन्ने की फसल में उपयोग करते हैं खरीफ और जायद मौसम बीज 14,000/एकड़ , खेत की तैयारी 27,000/एकड़ उर्वरक 6000/एकड़, बुवाई 3000/ एकड़, सिंचाई 54000/ एकड़, खरपतवारनाशक 400/एकड़, कीटनाशक दवा 3500/ एकड़, मजदूर 5100/ एकड़, कटाई 15000/ एकड़, कुल खर्चे 55,000/ एकड़, कुल इनकम 12,0000/ एकड़ , कुल बचत 65000/ एकड़

अगर आप गन्ने की फसल एवं बिजनेस करने में रुचि रखते हो तो आप इस लेख के माध्यम से सीखकर कर सकते हैं ,एवं अच्छी कमाई भी कर सकते हैं!

फूलों की खेती (Flowers farming)

फूलों की खेती एक उत्तम कृषि के अंतर्गत है जो कि अधिक फायदेमंद बिजनेस भी है,सबसे अधिक की जाने वाली फूलों की खेती है और यह फार्मिंग में सबसे अधिक लोकप्रिय खेती है जिसे अधिक लाभ पाने के लिए की जाती है, जिसमें लाभार्थियों को अधिक लाभ प्राप्त होता है और इसकी आवश्यकता मार्केट में सबसे अधिक देखने को मिलती है जैसे मंदिर, मस्जिद ,गुरुद्वारों, स्वागत सत्कार में एवं अन्य धार्मिक स्थल में है यह अधिक उपयोग होता है और जिसके कारण भारी तादाद में बोलो की खेती की जाती है एवं अधिक मेहनत से अधिक उत्पादन भी प्राप्त होता है और, इस बिजनेस को शुरू करने में कम लागत या पूंजी निवेश होती है जिससे अधिक लोग इस बिजनेस में निवेश कर रहे हैं और अधिक मुनाफा भी कमा रहे हैं

फूलों की कई किसमें होती है जैसे गेंदा, गुलाब, चांदनी,सूर्यमुखी कमल, रातरानी एवं कई किस्मों की फसल उगाई जाती है फसल हेतु कई पदार्थ जैसे कि खाद ,कंपोस्ट खाद, जैविक खाद,पानी, बिजली, मिट्टी इत्यादि वस्तुओं का उपयोग होता है

आप यह 1,2 एकड़ जमीन से फूलों की खेती का बिजनेस कर सकते हैं इसमें आपको बीज भंडार मार्केट से फूलों के बीच लेने होते हैं एवं फार्मिंग में उपयोग होने वाले करोड़ों में यंत्रों की भी आवश्यकता होती है, की मदद से आपको फूलों की खेती आसानी से कर सकते हैं, एवं यह आप मजदूरों की मदद से लेबर चार्ज देकर कर सकते हैं एवं एक मजदूर आपको चौकीदारी के लिए रखना पड़ता है, जिससे की मदद से आपको खेती को कोई हानी ना पहुंचे और इसमें आपको जानकारियों को प्राप्त कर करनी होती है कौन से कहां से प्राप्त करें, जैसे कि गोबर खाद रसायनिक पदार्थ एवं उपयोगी एवं उपयोगीवस्तुएं सम्मिलित की जाती है!

मशरूम की खेती ” Mashrum farming”

हमें रोजाना की सब्जी में हरी सब्जी खाना पसंद होता है परंतु इसके अलावा भी हम मार्केट में सबसे अधिक खाद्य पदार्थ है जिसका नाम मशरूम है ,मशरूम की मार्केट में अधिक सेलिंग एवं डिमांड अत्यधिक है, जिसकी फसल की पैदावार आवश्यकतानुसार की जाती है और जिसके कारण यह मार्केट में 12 माह तक उपलब्ध होती है

जबकि दूसरी मशरूम मौसमी फसल है यह वर्ष में वर्षा ऋतु में बादल की गरज और बिजली की चमक से धरती से उत्पन्न होती है जिसे हम देसी मसरूम (पिकनिक पिहरी) के नाम से जानते हैं और इसे लोगों द्वारा खाना अधिक पसंद करते हैं और जिसके कारण यह मार्केट में अधिक सेलिंग भी होती है!

मशरूम की खेती कैसे शुरू करें:

मशरूम की खेती शुरू करने के लिए मशरूम स्पावन मार्केट से खरीदने होते हैं और इससे इनमें आवश्यक रो मटेरियल जैसे 3 से 6 रैक,ड्रम्स, 25 से 30 गनी बैग्स, थर्मो हाइड्रोमीटर, सेंड, वर्मी कंपोस्ट, खाद,एस्ट्रो, पॉलिथीन बैग इस स्पॉन या मशरूम कल्चर की आवश्यकता होती है

मशरूम फार्मिंग लो मेंटेनेंस फार्मिंग है इसमें ज्यादा लेबर की आवश्यकता नहीं होती है,बल्कि 1 एकड़ मशरूम फार्म के लिए 2 लेबर भी काफी होते हैं,जो मशरूम इक्वेशन, इरीगेशन और कल्टीवेशन का काम करते हैं

मशरूम की किस्में:

सफेद बटन मशरूम, ऑयस्टर मशरूम, मिल्की मशरूम क्रेमिनी मशरूम, शिटाके मशरूम, और पोर्टोबेलो मशरूम आदि!

इनमें इंडिया में कल्टीवेट, कंज्यूम ज्यादा ग्रो करने वाली किस्में बटन,ऑयस्टर,स्ट्रा है, एव बटन मशरूम को ग्रो करने के लिए कंपोस्ट खाद बनाने की पहली प्रक्रिया होती है और यह नेचुरल प्रकृति भी हो सकती है जैसे गेहूं का भूसा, गोबर, जिप्सम और कुकुट खाद जिन्हें आपस में मिलाकर कंपोस्ट यार्ड पानी में फैला दिया जाता है और उस पर पानी की सिंचाई एवं स्प्रे किया जाता है जबकि सिंथेटिक कंपोस्ट बनाने के लिए यूरिया, जिप्सम, चना, गेहूं अमोनिया नाइट्रेट या अमोनिया सल्फेट की जरूरत होती है और तैयार किए गए कंपोस्ट को ट्रे में रख दिया जाता है दूसरी स्टेप में स्पॉनिंग जिसमें ”Mycelium”को बेड में बोया जाता है और,ट्रे में थोड़ा वाटर स्प्रे करके उसे ढक दिया जाता है इसके बाद केसिंग जिसमें ट्रे को मिट्टी की मोटी लेयर से कवर कर दिया जाता है और इस मिट्टी को केसिंग मिट्टी कहा जाता है, इस मिट्टी की फोल्डिंग कैपेसिटी अच्छी होती है, और फिर हार्वेस्टिंग का समय आता है और केसिंग के 15 से 20 दिन बाद मशरूम उगना शुरू हो जाते हैं और उन्हें मिट्टी से अलग कर कलेक्ट किया जाता है और उन्हें लंबे समय तक के लिए गीले कपड़ों या टॉवल में रखने होते हैं और फिर डिलीवर हेतु उन्हें अच्छे से पैक किया जाता है और अब वह हर घर सेफ्टी से भेजें ने के लिए तैयार हो जाते हैं और और मशरूम सेलिंग के लिए आप ऑनलाइन स्टोर बनाकर यह बिजनेस कर सकते हैं और मशरूम बिजनेस शुरू करने के लिए हमें GST रजिस्ट्रेशन और FSSAI लाइसेंस की आवश्यकता होती है!

3.Printing Press :

प्रिंटिंग प्रेस,व्यापार जगत में लोकप्रिय बिजनेस व्यापार है, इस व्यापार का एकमात्र उद्देश्य प्रचार प्रसार करना होता है और प्रिंटिंग प्रेस में पैसे आने का एकमात्र यही साधन होता है आज की व्यापारिक क्रियाओं में प्रिंटिंग प्रेस का अत्यधिक महत्व है प्रिंटिंग प्रेस में शादियों, बर्थडे, गृह प्रवे,या भव्य समारोह जैसे कार्यक्रमों को संपर्क में सूचित करने के लिए प्रिंट या छपवाने का कार्य होता है समय अनुसार जीवन प्रतिक्रिया में भी परिवर्तन हो चुका है जिससे यह प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस एक लाभप्रद बिजनेस बन चुका है एवं इस बिजनेस को प्रारंभ करने में प्रारंभिक लागत 5 से 6 लाख रुपए का बजट आता है,एवं इस व्यापार को शुरू करने के लिए कुछ उपकरणों की आवश्यकता होती है जैसे कि पेपर कटिंग मशीन, कंप्यूटर या लैपटॉप, फ्लेक्स मशीन, ऑफसेट मशीन, लेजर प्रिंटर यह सारी मशीनें प्रिंटिंग प्रेस स्टार्टअप सेटअप करने में उपयोग एवं आवश्यक होती है और एवं इस व्यापार को प्रारंभ करने के लिए कुछ कागजी पेपरों का होना भी आवश्यक होता है जो हमें सरकार द्वारा रजिस्ट्रेशन के माध्यम से उद्योग लाइसेंस प्राप्त करना होता है,जो कि कागजी पेपरों द्वारा लीगल तौर पर सर्टिफाइड होता है!

4. चाय पत्ती: (Tea,leaf)

“चाय पत्ती का बिजनेस” चाय यह हमारी मानवीय इच्छा नहीं बल्कि सुबह की दिनचर्या में आवश्यकता के रूप में होती है सुबह की शुरुआत एक चाय के प्याले से होती है प्रत्येक घरों में चाय का बनना निश्चित ही होता है और यह सुबह या शाम में जरूर बनती है या फिर घर में आने वाले मेहमान या पड़ोसी के लिए जरूर बनाई जाती है यह सुबह और शाम का एक प्याला होता है,जिससे यह प्रत्येक घरों में रोजाना की तरह बनाई जाती है एवं और यह प्रत्येक घरों में अधिक मात्रा में उपयोग होने वाला पेय पदार्थ है जिससे इसकी कृषि अधिक मात्रा में की जाती है और यह मार्केट में अधिक सेल होती हैं यह एक सबसे अधिक मात्रा में विक्रय होने वाली पेय पदार्थ वस्तु वस्तु है इसकी सेलिंग हेतु आपको मार्केटिंग करना आवश्यक होता है इस व्यापार को 95% करना सफल है आप इस बिजनेस को इस प्रकार से शुरू कर सकते हैं चाय पत्ती की स्वयं कृषि करवाकर, चाय पत्ती होलसेल रेट पर बेचकर या होलसेल रेट पर खरीद कर फुटकर बेचना और आप यह ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आसानी से बेच सकते हैं एवं 100% सेलिंग बढ़ा कर सकते हैं और अधिक प्रॉफिट कमा सकते हैं!

5. ईट भट्टे:(Brick Kiln)

” ईट भट्टे का बिजनेस” घर बनाना हर किसी का सपना होता है वह चाहे बड़ा घर हो या छोटा घर या मिट्टी का घर, घर तो घर होता है ,जिस तरह मिट्टी के घर बनाने में मिट्टी की आवश्यकता होती है उसी तरह पक्के, सीमेंटेड और बड़े घर बनाने में मिट्टी से बनी पक्की हुई ईटों की आवश्यकता होती है और इसलिए घर बनाने में ईटों की अधिक मात्रा में आवश्यकता होती हैं, वह चाहे सीमेंट की ईंट हो या मिट्टी की आवश्यकतानसार उपयोग होती हैं और ईटों के बिना घर, इमारत, पुल एवं मॉल्स बनाना असंभव होता है इसलिए इन कार्य में अधिक मात्रा में ईट आवश्यकता होती है इसलिए ईट का बिजनेस शुरू करना आपके लिए बहुत लाभकारी हो सकता है एवं इस बिजनेस में पैसे कमाने के लिए आपकी ईट भट्टे लगाकर कर सकते हैं आपको ईट बनाने के लिए एवं बट्टे लगाने के लिए आपके पास 1000 स्क्वायर फीट स्वतंत्र मैदान,स्थान होना चाहिए और इस बिजनेस का बजट लगभग 8 से 10 लाख रुपए लागत पर आता है…..और आपको इस बिजनेस को प्रारंभ करने के लिए आपके पास ईट भट्टे व्यापार का दस्तावेज होना चाहिए जिससे आपका यह बिजनेस कानूनी तौर पर साक्षात है!!

Leave a Comment